Home

Diwali Puja Samagri List In Hindi PDF Free Download

142 View
File Size: 120.58 KiB
Download Now
By: pdfwale
Like: 0
File Info
दीपावली पूजन सामग्री की पूरी लिस्ट, पूजा मंत्र | Diwali Puja Samagri List In Hindi PDF Free Download..

Diwali Puja Samagri List In Hindi PDF Free Download


प्रिय साथियों, इस लेख में दीवाली भक्ति सामग्री सूची पीडीएफ / दिवाली पूजा सामग्री सूची पीडीएफ हिंदी में है। दिवाली एक प्रमुख भारतीय त्योहार है जिसे दुनिया भर में व्यापक रूप से मनाया जाता है। दीपावली के पावन पर्व पर देवी श्री लक्ष्मी और श्री गणेश जी की पूजा की जाती है। आप इस दस्तावेज़ से दिवाली पूजा सामग्री सूची हिंदी पीडीएफ में आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

इस प्रकार हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार यदि आप दीवाली के अवसर पर विधि विधान से श्री लक्ष्मी-गणेश जी की पूजा करते हैं, तो माता श्री लक्ष्मी और श्री गणेश जी आपके घर और परिवार पर विशेष कृपा करेंगे। इस पूजा के प्रभाव से परिवार में साल भर सुख-शांति बनी रहती है।

डिजाइनरों ने आपको पूजा से पहले दिवाली पूजा सामग्री एकत्र करने के लिए एक पीडीएफ दिवाली पूजा सामग्री सूची प्रदान की है।

Puja Samagri List


  1. भगवान गणेश और लक्ष्मी मां की प्रतिमाएं
  2. भगवान के वस्त्र और श्रृंगार का सामान
  3. मिट्टी के बड़े और छोटे दीए 
  4. रूई की बत्ती 
  5. दीए जलाने के लिए तेल या घी
  6. रोली, अक्षत के लिए चावल, हल्दी, चौक बनाने के लिए आटा या रंगोली
  7. प्रसाद में भगवान गणेश के लिए लड्डू और माता लक्ष्मी के लिए मिठाई
  8. फूल और पान
  9. चांदी का सिक्का

दिवाली की खरीदारी लिस्ट

  1. दिवाली, गोवर्धन पूजा और भाई दूज की पूजा का सामान
  2. खानपान का सामान
  3. घर की सजावट का सामान
  4. कपड़े और गिफ्ट की शॉपिंग का सामान

रोशनी का त्योहार दीपावली तेजी से नजदीक आ रहा है। धनतेरस 23 अक्टूबर को मनाया जाता है। दिवाली पांच अलग-अलग उत्सवों से बना है, जिनमें से एक धनतेरस है। धनतेरस के बाद, छोटी दिवाली और बाद में, दीपावली मनाई जाती है। इसके बाद गोवर्धन पूजा और भाई दूज त्योहार आते हैं। पांच दिवसीय महोत्सव की ओर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। इसकी प्रक्रिया समय से कई दिन पहले शुरू हो जाती है।

दिवाली तक लोग नियमित रूप से बाजारों में आते हैं। दिवाली के मौके पर कई लोग बाजार जाते हैं। लोग पूजा सामग्री से लेकर घर की सजावट का सामान, लक्ष्मी गणेश के बर्तन और मूर्तियों से लेकर परिवार के सदस्यों के परिधान और भाई दूज के लिए दान में सभी चीजें खरीदते हैं।

यदि आप इस दिवाली बार-बार बाजार के दौरे से बचना चाहते हैं और अपने सभी त्योहारों को एक ही बार में अंतिम रूप देना चाहते हैं, तो समय से पहले दिवाली खरीदारी की सूची बना लें।

दिवाली पूजा का शुभ मुहूर्त

  1. कार्तिक अमावस्या तिथि आरंभ – 24 अक्टूबर 2022, शाम 05.27
  2. कार्तिक अमावस्या तिथि समाप्त – 25 अक्टूबर 2022, शाम 04.18
  3. लक्ष्मी पूजा प्रदोष काल मुहूर्त (शाम)- 24 अक्टूबर को शाम 07 बजकर 2 मिनट- 08 बजकर 23 मिनट तक
  4. लक्ष्मी पूजा निशिता काल मुहूर्त (मध्यरात्रि) – 24 अक्टूबर 2022 को रात 11 बजकर 46 मिनट से – 25 अक्टूबर 2022 को 12 बजकर 37 मिनट तक

Puja Vidhi

  1. दिवाली पर लक्ष्मी पूजा से पहले पूरे घर की साफ-सफाई कर लें। घर में गंगाजल का छिड़काव करें।
  2. घर को अच्छे से सजाएं और मुख्य द्वार पर रंगोली बना लें।
  3. पूजा स्थल पर एक चौकी रखें और उस पर लाल कपड़ा बिछाकर वहां देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करें।
  4. चौकी के पास जल से भरा कलश रख दें।
  5. माता लक्ष्मी और गणेश जी की प्रतिमा पर तिलक लगाएं और उनके समक्ष घी का दीपक जलाएं।
  6. दीपक जलाकर उन्हें जल, मौली,गुड़, हल्दी, चावल, फल, अबीर-गुलाल आदि अर्पित करें।
  7. इसके बाद देवी सरस्वती, मां काली, श्री हरि और कुबेर देव की विधि विधान पूजा करें।
  8. महालक्ष्मी पूजा के बाद तिजोरी, बहीखाते और व्यापारिक उपकरणों की पूजा करें।
  9. अंत में माता लक्ष्मी की आरती जरूर करें और उन्हें मिठाई का भोग लगाएं।
  10. प्रसाद घर-परिवार के सभी सदस्यों में बांट दें।

पूजा मंत्र

माँ लक्ष्मी मंत्र - Om श्री ह्रीं श्री कमले कमलाये प्रसिद प्रसिद, Om श्रीं ह्रीं श्री महालक्ष्मयै नमः।
सौभाग्य मंत्र - ओम श्री लकी महालक्ष्मी महालक्ष्मी एहियेही सर्व सौभाग्यम् स्वाहा शरीर में।
कुबेर मंत्र-ओम यक्षय कुबेरय वैश्रवणय धन्धान्यधिपत्ये शरीर में धन और समृद्धि है।

भारतीय शास्त्रों के अनुसार दीपावली की रात जो भी सामग्री भक्ति के लिए प्रयोग की जाती है उसे त्रयोदशी या धनतेरस के दिन खरीदना चाहिए।

नरक चतुर्दशी और अमावस्या यानि दीपावली के दिन पूजा सामग्री खरीदना वर्जित बताया गया है।

PDF File Categories

More Related PDF Files